तंत्रिका में दर्द का क्या है उपचार, प्रक्रिया, लागत और साइड इफेक्ट्स ?

तंत्रिका तंत्र व्यक्ति के शरीर में बहुत ही मत्वपूर्ण स्थान रखता है क्युकि शरीर का छोटे से लेकर बड़ा कार्य इसके द्वारा ही किया जाता है। शरीर को एक जगह से दूसरी जगह पर सन्देश को भेजना भी इसके द्वारा ही संभव हो पाता है। 

तो वही तंत्रिका के बिना हमारा शरीर कार्य करने में असमर्थ हो जाता है इसके अलावा अगर इसमें किसी भी तरह की परेशानी आ जाए तो कैसे हम खुद का इससे बचाव कर सकते है और तंत्रिका में दर्द की समस्या उत्पन हो जाए तो इसके उपचार, लागत और गलत प्रभाव क्या होंगे, इसके बारे में भी बात करेंगे। इसलिए इसको जानने के लिए आर्टिकल को अंत तक जरूर से पढ़े ; 

तंत्रिका में दर्द की समस्या क्यों उत्पन होती है ?

  • तंत्रिका में दर्द आमतौर पर एक चोट या बीमारी के कारण होता है जो आपके केंद्रीय तंत्रिका तंत्र (मस्तिष्क और रीढ़ की हड्डी) या आपकी मांसपेशियों और अंगों तक जाने वाली नसों को प्रभावित करता है। वही तंत्रिका में दर्द के सामान्य कारणों में शामिल हैं आपके मस्तिष्क, रीढ़ या नसों में चोट। 
  • दूसरी और नसों का दर्द, जिसे नसों का दर्द या न्यूरोपैथिक दर्द भी कहा जाता है, तब होता है जब कोई स्वास्थ्य स्थिति उन नसों को प्रभावित करती है जो आपके मस्तिष्क में संवेदनाएं ले जाती हैं।
  • तंत्रिका दर्द आपके शरीर में किसी भी तंत्रिका को प्रभावित कर सकता है, लेकिन यह आमतौर पर कुछ नसों को दूसरों की तुलना में अधिक प्रभावित करता है।

तंत्रिका दर्द का इलाज कैसे किया जाता है?‎

  • तंत्रिका दर्द का इलाज करना मुश्किल हो सकता है, लेकिन ऐसी कई रणनीतियाँ हैं जिन्हें आप आज़मा सकते हैं, इसके इलाज में। तो वही अंतर्निहित कारण का इलाज करना, इसका पहला कदम है।
  • आपका डॉक्टर मधुमेह और विटामिन बी 12 की कमी जैसी किसी अंतर्निहित स्थिति का इलाज या प्रबंधन भी कर सकता है।
  • वही इसके इलाज के लिए कभी-कभी क्रीम, जैल, लोशन और पैच जैसे ‎सामयिक उपचार तंत्रिका दर्द से निपटने में मदद करते हैं। एक डॉक्टर ‎एंटीकोनवल्सेंट्स को एंटी-ड्रिंपेंट्स के साथ ‎तंत्रिका दर्द से पीड़ित रोगी को सलाह दे सकता है। 

क्या तंत्रिका में दर्द का कोई नुकसान भी है ?

  • इसके नुकसान में धुंधली दृष्टि, पसीना, शुष्क मुंह, बेचैनी, चक्कर ‎आना और रेसिंग दिल की धड़कन शामिल हैं। तो वही तंत्रिका दर्द ‎का इलाज करने के लिए प्रयुक्त एंटीकोनवल्सेंट दर्द और ‎चक्कर आना, सूजन पैदा करना जैसे नुकसान शामिल हैं। 

अगर तंत्रिका में दर्द के साइड इफेक्ट्स आपमें नज़र आने लगे तो इससे बचाव के लिए आपको बेस्ट न्यूरोलॉजिस्ट लुधियाना का चयन करना चाहिए।

तंत्रिका में दर्द के इलाज का खर्चा कितना आता है ? 

  • तंत्रिका में दर्द से पीड़ित व्यक्ति का इलाज अगर दवाओं के ‎साथ किया जाए, तो इसकी कीमत 5000 रुपये से लेकर 20000 रुपये हो सकती है। ‎हालांकि, सर्जिकल और संबंधित प्रक्रियाओं के लिए, ‎एक व्यक्ति को अस्पताल और शहर के आधार पर 6-15 लाख का भुगतान करना पड़ ‎सकता है।

अगर आप भी तंत्रिका में दर्द की समस्या से परेशान है और इसका इलाज किफायती दाम में करवाना चाहते है तो इसके के लिए झावर न्यूरो ब्रेन एन्ड स्पाइन हॉस्पिटल का चुनाव जरूर से करें।

निष्कर्ष :

तंत्रिका में दर्द की समस्या से निजात पाने के लिए किसी अच्छे डॉक्टर का चयन जरूर से करें और इसके इलाज के लिए किसी भी तरह की दवाई को खुद से न ले बिना डॉक्टर के सलाह के।

आयरन की कमी से मानसिक स्वास्थ्य पर काफी बुरा असर पड़ता है, जाने इसके क्या है लक्षण
HindiNeurologist

आयरन की कमी से मानसिक स्वास्थ्य पर काफी बुरा असर पड़ता है, जाने इसके क्या है लक्षण

आयरन मानव के शरीर के लिए बेहद ज़रूरी मिनरल होता है, जो कई महतवपूर्ण कार्य में अपनी विशेष भूमिका निभाते है | दरअसल आयरन शरीर में लाल रक्त कोशिकाएं की…

  • June 17, 2024

  • 9 Views

माइग्रेन को कम करने के लिए बेहद ही आसान घरेलु नुस्खा,जो इस समस्या को करे जड़ से ख़तम
Hindi

माइग्रेन को कम करने के लिए बेहद ही आसान घरेलु नुस्खा,जो इस समस्या को करे जड़ से ख़तम

अगर आप भी गंभीर सिरदर्द और माइग्रेन जैसी समस्या से पीड़ित है तो ऐसे ही कुछ घरेलु उपचार का इस्तेमाल करके इस समस्या से छुटकारा पा सकते है  | यह…

  • June 11, 2024

  • 15 Views