Successful Liver Surgery by Doctor Sukhdeep Jawar

Health conditions associated with the liver can be alarming. They can cause complications in the body’s system, leading to extreme pain and discomfort.  A healthy diet and moderate exercise can maintain a healthy body. However, several factors can cause problems with the liver, and these problems need to be addressed as soon as possible to avoid serious complications. 

 

In this video, you will witness Dr Sukhdeep Jawar using his impeccable skills and years of experience to conduct a surgery through a unilateral upfront approach for the treatment of tuberculum sellae meningioma. 

 

Neuromaster Doctor Sukhdeep Jawar has been working in the medical industry for years. His hard work and dedication to helping patients dealing with health problems have helped him attain in-depth knowledge and skills to help more people. 

 

His aim is to provide a high-quality treatment using advanced technological tools and equipment that are extremely reliable. The advanced technology helps to save time as well as conduct an effective diagnosis and procedure, which eventually allows the patient to be free from discomfort and pain. 

 

Contact Neuromaster Dr Sukhdeep Jawar for an excellent treatment today!

Successful Liver Surgery by Doctor Sukhdeep Jawar
Neurologist

Successful Liver Surgery by Doctor Sukhdeep Jawar

Health conditions associated with the liver can be alarming. They can cause complications in the body’s system, leading to extreme pain and discomfort.  A healthy diet and moderate exercise can…

  • July 16, 2024

  • 3 Views

गंभीर सिरदर्द बन सकता है जानलेवा, जाने डॉक्टर द्वारा बताए गए के ऐसे लक्षण जिसका जानना है बेहद ज़रूरी
HeadacheHindi

गंभीर सिरदर्द बन सकता है जानलेवा, जाने डॉक्टर द्वारा बताए गए के ऐसे लक्षण जिसका जानना है बेहद ज़रूरी

सिरदर्द कई कारणों से होने लगता है | ज्यादातर मामलों में यह सिरदर्द अपने आप ही ठीक हो जाता है या फिर पेनकिलर के सेवन से कम हो जाता है…

  • July 13, 2024

  • 25 Views

आयरन की कमी से मानसिक स्वास्थ्य पर काफी बुरा असर पड़ता है, जाने इसके क्या है लक्षण

आयरन मानव के शरीर के लिए बेहद ज़रूरी मिनरल होता है, जो कई महतवपूर्ण कार्य में अपनी विशेष भूमिका निभाते है | दरअसल आयरन शरीर में लाल रक्त कोशिकाएं की उत्पादन में सहायता करते है, जो पूरे शरीर में ऑक्सीजन पहुंचने का कार्य करती है | जहाँ आयरन मासपेशिओं के कार्य में, प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए ज़रूरी होता है, वही यह मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी बेहद ज़रूरी होता है | 

 

आयरन की कमी से एनीमिया जैसे समस्या हो सकती है, इस स्थिति में शरीर को पर्याप्त लाल रक्त कोशिकाएं नहीं मिलती, जिस वजह से शरीर को नियमित ऑक्सीजन प्राप्त नहीं होता  | एनीमिया के मुख्य लक्षण है, थकान महसूस होने, कमजोरी, साँस लेने में तक़लीफ होना, सिरदर्द होना, चक्कर आना आदि | आयरन की कमी से मानसिक स्वास्थ्य में भी काफी बुरा असर पड़ता है | 

 

आयरन की  कमी से अवसाद और चिंता जैसे मानसिक से जुड़ी समस्या उत्पन्न हो जाती है | ऐसा इसलिए होता है क्योंकि आयरन सेरोटोनिन और डोपामाइन जैसे न्यूरोट्रांसमीटर की उत्पादन में सहायता करते है जो कि मूड को नियंत्रित करने का कार्य करता है और यह मस्तिष्क के स्वास्थ्य  के लिए बेहद आवश्यक होता है | आयरन की कमी से इन न्यूरोट्रांस्मीटर की उत्पादना कम हो सकती है, जिस वजह से अवसाद और चिंता जैसे समस्या को बढ़ावा मिल सकता है | 

 

आयरन की कमी को पूरा करने के आपको पौष्टिक तत्व और आयरन से भरपूर खाद्य पदार्थ का सेवन कर सकते है, जैसे की:- 

 

  • ब्रोकोली
  • हरे पत्ते वाली सब्जियां 
  • साबुत अनाज 
  • मांस 
  • मछली 
  • दाल 
  • बीन्स 
  • टोफू  
  • फल 

 

आयरन के अवशोषण को बढ़ाने के लिए विटामिन सी से भरपूर खाद पदार्थों का सेवन भी कर सकते है, जैसे की संतरे, निम्बू का रास,आवला आदि | अगर आपको लग रहा है की आपके शरीर में आयरन की कमी हो गयी है, घबराएं नहीं तुरंत डॉक्टर के पास जाएं और उनसे बात करे | वह आपके शरीर में आयरन के स्तर की जाँच-पड़ताल करके इसकी कमी को पूरा करने में आपकी मदद करेंगे | इसके लिए आप न्यूरो मास्टर झावर हॉस्पिटल का चयन कर सकते है | इस संस्था के डॉक्टर सुखदीप झावर न्यूरोलॉजिस्ट में एक्सपर्ट है और इन्हे 15 सालों का तज़र्बा है |  

Successful Liver Surgery by Doctor Sukhdeep Jawar
Neurologist

Successful Liver Surgery by Doctor Sukhdeep Jawar

Health conditions associated with the liver can be alarming. They can cause complications in the body’s system, leading to extreme pain and discomfort.  A healthy diet and moderate exercise can…

  • July 16, 2024

  • 3 Views

गंभीर सिरदर्द बन सकता है जानलेवा, जाने डॉक्टर द्वारा बताए गए के ऐसे लक्षण जिसका जानना है बेहद ज़रूरी
HeadacheHindi

गंभीर सिरदर्द बन सकता है जानलेवा, जाने डॉक्टर द्वारा बताए गए के ऐसे लक्षण जिसका जानना है बेहद ज़रूरी

सिरदर्द कई कारणों से होने लगता है | ज्यादातर मामलों में यह सिरदर्द अपने आप ही ठीक हो जाता है या फिर पेनकिलर के सेवन से कम हो जाता है…

  • July 13, 2024

  • 25 Views

Which are the Most-Observed Causes of Facial Numbness?

Let us try to understand the numbness in the words of the best neurologist in Ludhiana, “When we do not feel anything or we are not feeling any kind of the sensations, then that condition is known as numbness.” It is not a condition rather it is the symptoms of some other health ailment. The neurosurgeon in Punjab, who participated in conducting the ‘Numbness-Causing Studies’ was of the view that numbness is caused when the nerves have gotten compressed.

Did you know?

It is not normal to run into facial numbness even for a single time. It could come out in something whose results may be frightening.

Do not delay in visiting the doctor

There are some of the symptoms, which you should not ignore at any cost and seek medical help immediately. Those symptoms are as mentioned below:

  • The face is becoming numbed after the head injuries
  • The numbness is beginning suddenly and is involving the following
    • Arm
    • Leg
    • Face
  • If you are facing difficulty in speaking
  • If you are feeling nauseous
  • If you are suffering from an unendurable headache
  • If because of numbness you are suffering from vision loss.

Which are the possible causes of Vision Loss?

There could be many reasons why people suffer from facial numbness. Here are some of the customarily observed reasons:

Multiple sclerosis

It is an inflammatory condition that produces very harmful effects on the nerves. Although the nature of this condition is chronic, its progression rate is different in each person. The symptoms that the cause the your facial numbness is MS:

  • Blurred or loss of vision
  • loss of coordination & bladder control

Bell’s Palsy

It is the condition which only causes numbness on one side of the face. It is believed to be caused by the herpes virus. If the cause of your facial numbness is bell’s palsy, then it means that the nerves of your face have become entirely damaged.

Migraine

There is a certain kind of migraine because of which you may face numbness on even one side of the face. This condition is known as Hemiplagoc migraine. The symptoms of this condition are as listed below:

  • Dizziness
  • Vision Problems
  • Speech Difficulties

Strokes

When it is the stroke that is causing your face to get numbness, then it means your arteries have become ruptured. Only a professional doctor can tell you whether it is the stroke that is causing you to suffer from facial numbness or not.

Infections

The following kinds of infections are also accountable for numbing your face:

  • Viral Infections
  • Bacterial Infections
  • Dental Infections

Drug Interaction

Consumption of intoxicating drugs can have a bad impact on your face. Such kinds of drugs may include the following

  • Cocaine & antihistamines
  • Alcohol
  • Chemotherapy drugs

Final Comments!

If you were looking for the piece of the information that we have not mentioned, then please let us know. We shall try to include that in our next article.

Successful Liver Surgery by Doctor Sukhdeep Jawar
Neurologist

Successful Liver Surgery by Doctor Sukhdeep Jawar

Health conditions associated with the liver can be alarming. They can cause complications in the body’s system, leading to extreme pain and discomfort.  A healthy diet and moderate exercise can…

  • July 16, 2024

  • 3 Views

गंभीर सिरदर्द बन सकता है जानलेवा, जाने डॉक्टर द्वारा बताए गए के ऐसे लक्षण जिसका जानना है बेहद ज़रूरी
HeadacheHindi

गंभीर सिरदर्द बन सकता है जानलेवा, जाने डॉक्टर द्वारा बताए गए के ऐसे लक्षण जिसका जानना है बेहद ज़रूरी

सिरदर्द कई कारणों से होने लगता है | ज्यादातर मामलों में यह सिरदर्द अपने आप ही ठीक हो जाता है या फिर पेनकिलर के सेवन से कम हो जाता है…

  • July 13, 2024

  • 25 Views

Neurological Evidence of a Mind-Body Connection

If we talk about neurology, then first of all, we should know about the mind, as it is associated with the brain. The brain is made up with billions of nerve cells; the skull protects the brain, and the bones form the head. It comprises three major parts: cerebrum, cerebellum and brain system. The brain is a three-pound organ. It is the best seat of intelligence, interpreter of the senses, initiator of body movement and controller of behavior. Many people have brain disorders such as migraine, dementia, and diabetic neuropathy, but they do not take heed of or are not aware of it. You must visit the best neurosurgeon Ludhiana because all these disorders require medical professional help.

Relation Between Brain And Body:

Washington University School of Medicine says that the study of the brain areas that control signals are plugged into networks involved in thinking, planning and in control of involuntary bodily activity such as blood pressure and heartbeat. These findings demonstrate a literal linkage between body and mind within the brain’s structure.

The brain and body are connected through a neural pathway of neurotransmitters, nerves, hormones and chemicals that communicate via nerves. These pathways transmit signals linking the body and the brain to control our functions, from breathing, digestion, and pain sensations to movement, thinking, and feeling. 

What Is Neurology: 

Neurology is the branch of medicine concerned with diagnosing and treating all categories of conditions and illnesses involving the nervous system, including the brain. Neurologists treat diseases of the brain and peripheral nerves and muscles. Neurological conditions include epilepsy, stroke, multiple sclerosis (MS) and Parkinson’s disease. Neurology is essential for learning about the nervous system to understand better how our minds and bodies work. Make an appointment with the best neurologist Punjab to learn more about your brain health.

How To Maintain Brain Health:

  • Focus On Positive: The mind relates to the thoughts, feelings and images we face. These things have an effect on your physical state. You are physically affected (through body sensations and functioning) by what goes on in your mind.  
  • Work on managing Stress: There are many ways in which we can deal with stress. These ways include not paying too much attention to stress, spending time with everyone, doing meditation, concentrating and therapy on our work. If you think therapy can provide relief, go to the best neurosurgeon in Ludhiana.
  • Try Meditation: Meditation helps to reduce pain perception, stress, anxiety, aging and pressure. It can improve a person’s ability to sleep. It is possible to experience reduced anxiety and get rid of mental health issues with meditation.  

CONCLUSION:    

Brain is an essential organ and the main part of our life and when some people are not taking care of brain health it can lead to diseases like brain disorders. Try meditation to maintain brain health. If you may feel brain disorders such as migraine, anxiety, stress, pain etc. Book an appointment with the best neurologist in Punjab, to support better brain and body health.

Successful Liver Surgery by Doctor Sukhdeep Jawar
Neurologist

Successful Liver Surgery by Doctor Sukhdeep Jawar

Health conditions associated with the liver can be alarming. They can cause complications in the body’s system, leading to extreme pain and discomfort.  A healthy diet and moderate exercise can…

  • July 16, 2024

  • 3 Views

गंभीर सिरदर्द बन सकता है जानलेवा, जाने डॉक्टर द्वारा बताए गए के ऐसे लक्षण जिसका जानना है बेहद ज़रूरी
HeadacheHindi

गंभीर सिरदर्द बन सकता है जानलेवा, जाने डॉक्टर द्वारा बताए गए के ऐसे लक्षण जिसका जानना है बेहद ज़रूरी

सिरदर्द कई कारणों से होने लगता है | ज्यादातर मामलों में यह सिरदर्द अपने आप ही ठीक हो जाता है या फिर पेनकिलर के सेवन से कम हो जाता है…

  • July 13, 2024

  • 25 Views

Why visit a neurologist if there is something wrong with the neck or back?

With the passage of time, the medical professionals accountable for treating the variety of the treatments are getting increased regularly. Some doctors treat overall health while others have made the specific discipline their field of study.

 

For example, It is the Best Neurologist in Ludhiana who has made the treatment of the nerves, brain and the nerves as the field of their study while the spinal surgeon makes use of the surgical intervention to treat both the back and the neck pain.

 

Did you know?

I know when it comes to getting treated with the conditions of neck pain or back pain, then you might consider visiting the spinal surgeon. But what if I tell you that visiting a neurologist would be more beneficial since:

 

He accurately diagnoses the condition

According to the Neurosurgeon In Punjab, “There are so many different causes of both neck and back pain, the most common of them are associated with nerve problems. As neurologists are known for treating the various conditions associated with the nerves, they are highly efficient in treating neck or back issues caused due to either nerve damage or compression.”

 

More Conservative Treatments

Many people consider listing the spinal surgeon when it comes to neck or back pain. But visiting a neurologist is still the best option since they have so many kinds of treatments available.

 

Did you know?

One of the main reasons why we do not suggest you visit the spinal surgeon is that they only offer you surgical interventions.  Visiting a neurologist is beneficial since you will not be suggested with the surgical intervention on the first go.

 

Appropriate treatment plan

There are so many causes that are associated with both back and neck pain. Certain cases do only get better when spinal surgeries are performed. There are so many kinds of hospitals including the one headed by Dr Sukhdeep Singh Jhawar in which the neurologist does coordinate with the spinal surgeons to make sure that an efficient treatment plan is formed.

 

Trustworthy Referrals

We are not at all intending to exaggerate the role of the neurologist since we do accept there may arise certain conditions which cannot be treated by the neurologist. In that case, the neurologist tends to refer the particular case to the spinal surgeon to make sure that the patient is getting benefited from the right kind of procedure.

 

Long-Term Care

The neurologist is usually considered as the Primary Care doctor that makes sure that your nervous system is working well. With long term care, we mean everything that a patient needs to establish the well-being of the nervous system. Also, in case the decision needs to be made whether you should opt up for the surgical intervention or not, the neurologist will help you with everything possible.

Successful Liver Surgery by Doctor Sukhdeep Jawar
Neurologist

Successful Liver Surgery by Doctor Sukhdeep Jawar

Health conditions associated with the liver can be alarming. They can cause complications in the body’s system, leading to extreme pain and discomfort.  A healthy diet and moderate exercise can…

  • July 16, 2024

  • 3 Views

गंभीर सिरदर्द बन सकता है जानलेवा, जाने डॉक्टर द्वारा बताए गए के ऐसे लक्षण जिसका जानना है बेहद ज़रूरी
HeadacheHindi

गंभीर सिरदर्द बन सकता है जानलेवा, जाने डॉक्टर द्वारा बताए गए के ऐसे लक्षण जिसका जानना है बेहद ज़रूरी

सिरदर्द कई कारणों से होने लगता है | ज्यादातर मामलों में यह सिरदर्द अपने आप ही ठीक हो जाता है या फिर पेनकिलर के सेवन से कम हो जाता है…

  • July 13, 2024

  • 25 Views

Dr. Sukhdeep Jhawar Guide On – The Role & Responsibilities Of A Neurologist

The Best neurologists in Ludhiana are specialised to treat the problems concerned with the brain and the nervous system. These cannot treat the problems with surgical intervention but they are also the ones who decide whether the treatment of the particular problem requires expert care or not.

People are usually confused with the roles of the neurologist and the neurosurgeon in Punjab. The only big difference between the role of the neurologist and the neurosurgeon is that the neurologist can not aim to treat the problem with surgical intervention but a neurosurgeon is specialised in treating the problems with the surgeries.

What are the ideal qualifications of a neurologist?

 A neurologist is specialises to having a college degree. And along with that, they have to spend a good 4 years in medical school and 1 year in the internship. They have to spend 3 years of special training in neurology as well

What is the treatment sphere of a neurologist?

There are some of the conditions which a neurologist can treat and those are as follow:

  • Alzheimer’s disease
  • Amyotrophic lateral sclerosis
  • Headaches
  • Epilepsy
  • Parkinson’s disease
  • Peripheral neuropathy
  • Pinched nerves
  • Multiple sclerosis
  • Tremors
  • Back pain
  • Brain and spinal cord injury or infection
  • Brain tumour
  • Seizures
  • Stroke

 

What are the subspecialties of a neurologist?

Since neurology is the science that does not only deal with the brain, but the nervous system as well, the treatment sphere becomes even more vast as there are so many conditions that can be diagnosed and treated by a neurologist. Many people go to study for a specific subspecialty once their residency training is over.

 

The specialist tends to focus on the following:

  • Headache medicine
  • Sleep medicine
  • Neuromuscular medicine
  • Neurocritical care
  • Neuro-oncology
  • Geriatric neurology
  • Autonomic disorders
  • Vascular neurology
  • Child neurology
  • Interventional neuroradiology
  • Epilepsy

 

How do neurologists examine your problems?

Whenever we visit a neurologist for the first time, they would talk about the medical history and the symptoms. Apart from that, you will have a special physical exam that does not only focus on the brain but the nerves for sure.

 

It is a neurologist that checks your following credentials:

 

  • Mental status
  • Speech
  • Vision
  • Strength
  • Coordination
  • Reflexes
  • Sensation

 

A good idea about the diagnosis can be had from the examination. But the idea is not always enough. The patient will need to undergo several other tests to confirm whether the factor which they were thinking of as the cause of the problem is the same or not.

 

Which tests would I be required to undergo?

Based on the medical condition and the symptoms, it will be decided which of the following tests are to be performed on the patient:  

 

  • Blood or the Urine tests
  • Imaging tests
  • Electroencephalograph
  • A Test to determine how well are the nerves and the muscles communicating
  • The brain’s response to several things is measured:
  • Hearing
  • Vision

 

If there is a suspicion that you have a blood infection, then the small amount of the fluid is not only taken from your spine to ascertain if there is the presence of infection in the body or not.

Successful Liver Surgery by Doctor Sukhdeep Jawar
Neurologist

Successful Liver Surgery by Doctor Sukhdeep Jawar

Health conditions associated with the liver can be alarming. They can cause complications in the body’s system, leading to extreme pain and discomfort.  A healthy diet and moderate exercise can…

  • July 16, 2024

  • 3 Views

गंभीर सिरदर्द बन सकता है जानलेवा, जाने डॉक्टर द्वारा बताए गए के ऐसे लक्षण जिसका जानना है बेहद ज़रूरी
HeadacheHindi

गंभीर सिरदर्द बन सकता है जानलेवा, जाने डॉक्टर द्वारा बताए गए के ऐसे लक्षण जिसका जानना है बेहद ज़रूरी

सिरदर्द कई कारणों से होने लगता है | ज्यादातर मामलों में यह सिरदर्द अपने आप ही ठीक हो जाता है या फिर पेनकिलर के सेवन से कम हो जाता है…

  • July 13, 2024

  • 25 Views

कौन से कारण एक व्यक्ति को ब्रेन सर्जरी की स्थिति तक पहुंचा देते है ?

मस्तिष्क चेतन और अचेतन शरीर के कार्यों के साथ- साथ स्मृति, सीखने और सोच जैसे ‘उच्च’ कार्यों को नियंत्रित और समन्वयित करता है। शरीर के किसी भी अन्य हिस्से की तरह, यह रक्तस्राव, संक्रमण, आघात और अन्य प्रकार की क्षति के प्रति संवेदनशील है। मस्तिष्क की कार्यप्रणाली में इस क्षति या परिवर्तन के कारण कभी-कभी इन समस्याओं के निदान या उपचार के लिए मस्तिष्क सर्जरी (न्यूरोसर्जरी) की आवश्यकता होती है। मस्तिष्क सर्जरी की आवश्यकता वाली स्थितियों के लक्षण स्थिति के प्रकार और गंभीरता के आधार पर भिन्न हो सकते है। सामान्य लक्षणों में शामिल है: 

  • सिरदर्द 
  • जी मिचलाना 
  • उलटी करना 
  • तंद्रा
  • दौरे 

मस्तिष्क की मुख्य प्रकार की स्थितियां जिनमें मस्तिष्क सर्जरी की आवश्यकता हो सकती है उनमें शामिल हैं:

  • मस्तिष्क के ऊतकों में परिवर्तन – जैसे मस्तिष्क कैंसर, संक्रमण और सूजन (एडिमा)
  • मस्तिष्क के रक्त प्रवाह में परिवर्तन – जैसे कि सबड्यूरल हेमेटोमा, सबराचोनोइड रक्तस्राव और इंट्रावेंट्रिकुलर रक्तस्राव
  • मस्तिष्कमेरु द्रव में परिवर्तन – जैसे संक्रमण या हाइड्रोसेफ़लस।

 

ब्रेन सर्जरी क्या है?

ब्रेन सर्जरी एक ऐसी प्रक्रिया है जो आपके मस्तिष्क और आसपास के क्षेत्रों में मस्तिष्क संबंधी असामान्यताओं या समस्याओं का इलाज करती है। मस्तिष्क आपके केंद्रीय तंत्रिका तंत्र का हिस्सा है। यह आपके बोलने, चलने, सोचने और याद रखने की क्षमता को नियंत्रित करता है। मस्तिष्क सर्जरी आपके शरीर के महत्वपूर्ण कार्यों को बाधित किए बिना आपके मस्तिष्क में या उसके आसपास अंतर्निहित स्थितियों का इलाज करती है।

ब्रेन सर्जरी के प्रकार 

ब्रेन सर्जरी कई प्रकार की होती है। कुछ सबसे आम में शामिल हैं:

  • बीओप्सी: मस्तिष्क बीओप्सी में मस्तिष्क से ऊतक का एक छोटा सा टुकड़ा या तरल पदार्थ का नमूना निकाला जाता है। एक स्वास्थ्य सेवा प्रदाता नमूना प्राप्त करने के लिए आपके मस्तिष्क में एक सुई डालकर स्टीरियोटैक्टिक (कंप्यूटर-निर्देशित) सुई बायोप्सी कर सकता है। या वे खुली सर्जरी के दौरान कुछ ऊतक निकाल सकते हैं। 
  • क्रेनियोटोमी: क्रेनियोटोमी खुला ब्रेन सर्जरी है। एक सर्जन आपके मस्तिष्क तक पहुंचने के लिए आपकी खोपड़ी का एक टुकड़ा निकालता है, फिर सर्जरी के बाद उस टुकड़े को बदल देता है। ट्यूमर, रक्त का थक्का, धमनी शिरा संबंधी विकृति या मिर्गी के ऊतकों को हटाने के लिए आपको क्रेनियोटोमी की आवश्यकता हो सकती है।
  • न्यूरोएंडोस्कोपी: मरीज की नाक, मुंह और खोपड़ी में एक छोटा चीरा लगाकर एंडोस्कोप, एक छोटी ट्यूब लगाई जाती है। एंडोस्कोपी चिकित्सक को रोगी के मस्तिष्क तक पहुंचने और मस्तिष्क के ऊतकों को निकालने की अनुमति देगा।

क्या मस्तिष्क सर्जरी से स्मृति हानि हो सकती है ?

हालाँकि सर्जरी कुछ रोगियों में स्मृति गिरावट के जोखिम का प्रतिनिधित्व कर सकती है, बाएं या दाएं टेम्पोरल लोब संरचनाओं के उच्छेदन के बाद मौखिक और दृश्य दोनों प्रकार की स्मृति हानि संभव है, सभी स्मृति शिकायतें सर्जरी से संबंधित नहीं हैं।

मस्तिष्क सर्जरी की लागत कितनी है ?

ट्यूमर की तीव्रता के आधार पर, भारत में ब्रेन ट्यूमर सर्जरी की लागत 1,50,000 रुपये से 5,00,000 रुपये तक हो सकती है।

कुछ दिनों पहले मार्च की महीने में ईशा फाउंडेशन के संस्थापक और आध्यात्मिक गुरु सद्गुरु की ब्रेन सर्जरी (Sadhguru Brain surgery) की गयी है। उन्हें पिछले चार हफ्तों से सिरदर्द था। सिरदर्द बहुत गंभीर था और और वह इसे नजरअंदाज कर रहे थे क्योंकि उन्हें अपनी सामान्य गतिविधियां करनी थी। यहां तक कि उन्होंने ८ मार्च को महाशिवरात्रि समारोह भी आयोजित किया था, इस तथ्य के बावजूद कि उन्हें दर्दनाक दर्द था। १५ मार्च को दर्द गंभीर हो गया और फिर उन्होंने डॉक्टर से सलाह लेने का सोचा। उसी शाम उनकी एक बहुत ही महत्वपूर्ण बैठक थी और वह इसे छोड़ना नहीं चाहते थे। हालांकि बाद में एमआरआई किया गया तो पता चला कि उनके मस्तिष्क में भारी रक्तस्राव हुआ था। यह मस्तिष्क के बाहर और हड्डी के नीचे है। दो बार भारी रक्तस्राव हुआ था- एक जो लगभग तीन सप्ताह पहले और दूसरा जो दो से तीन दिन पहले हुआ था।       

Successful Liver Surgery by Doctor Sukhdeep Jawar
Neurologist

Successful Liver Surgery by Doctor Sukhdeep Jawar

Health conditions associated with the liver can be alarming. They can cause complications in the body’s system, leading to extreme pain and discomfort.  A healthy diet and moderate exercise can…

  • July 16, 2024

  • 3 Views

गंभीर सिरदर्द बन सकता है जानलेवा, जाने डॉक्टर द्वारा बताए गए के ऐसे लक्षण जिसका जानना है बेहद ज़रूरी
HeadacheHindi

गंभीर सिरदर्द बन सकता है जानलेवा, जाने डॉक्टर द्वारा बताए गए के ऐसे लक्षण जिसका जानना है बेहद ज़रूरी

सिरदर्द कई कारणों से होने लगता है | ज्यादातर मामलों में यह सिरदर्द अपने आप ही ठीक हो जाता है या फिर पेनकिलर के सेवन से कम हो जाता है…

  • July 13, 2024

  • 25 Views

What Is The Nervous System And Electromyography (EMG)?

Brain doctors are medical specialists who specialize in the treatment of nervous system such as those affecting the brain, spinal cord, and peripheral nerves. They frequently deal with neurological disorders.

Many cities provide good and affordable neurologists. One of the most popular cities is Ludhiana. You may contact Best Neurologist Ludhiana for the treatment of your neurological diseases.

What are the common neurological diseases and their treatments?

  • Alzheimer: It is a neurological disease that affects memory and cognitive function. Alzheimer currently has no cure. Treatment mostly focuses on symptom management and disease progression. To control cognitive symptoms, medications like cholinesterase and memantine may be determined. Lifestyle changes such as a nutritious diet, regular exercise and cognitive stimulation can also be beneficial.
  • Parkinson: Parkinson’s disease is a movement illness that causes rigidity, and slow movement. Parkinson’s disease has no cure. However, drugs can help manage symptoms. For several situations, deep brain stimulation surgery may be explored to treat motor symptoms.
  • Ataxia: Ataxia is a neurological condition that impairs coordination and balance. It can cause shaky motions, difficulty speaking, and impairments in fine motor abilities. Ataxia is caused by damage to the cerebellum.
  • Brain cancer: Brain cancers can develop from brain cells. Although the actual reason for most brain tumors is unknown, various risk factors such as radiation exposure, family history, and certain genetic diseases may increase the likelihood of getting them.

Nervous System

The nervous system in the human body is complex and crucial. It coordinates and governs different physiological functions, behaviors, and responses to external stimuli. It is in charge of information communication and integration both within the body and with the external environment.

Electromyography (EMG)

It is a medical and research technology that measures the electrical activity of muscles. It ensures recording and analyzing electrical signals produced by muscle fibers while they come into contact. EMG is useful in a variety of medical fields, including neurology, orthopedics and rehabilitation. You can contact Best Neurosurgeon in Phagwara according to your preferences.

A tiny needle electrode is placed into a muscle during an EMG. When the electrode creates muscle fibers contract, electrical impulses, these indications, known as electrical potentials, are either displayed or recorded for study. Although EMG is generally safe, it can be uncomfortable or painful for some patients, especially needle EMG. It also does not provide information about the source of muscle problems; rather, it serves in the diagnosis of the problem.

EMG may help in the diagnosis of neuromuscular illness. It can check nerve injury or compression, such as in carpal tunnel syndrome. It is used to assess the nervous system. During surgeries, surgeons may use intraoperative EMG to prevent nerve damage. 

  • Surface EMG includes the placement of electrodes on the skin’s surface, which is less comprehensive information than needle EMG.
  • Needle EMG, a fine needle electrode, is placed directly into the muscle with this approach. This provides more specific information on the activity of the muscle and is frequently utilized for diagnostic purposes.

Conclusion 

For the best treatment of your brain, just contact Jhawar Hospital. We provide the best treatment according to your needs.

Successful Liver Surgery by Doctor Sukhdeep Jawar
Neurologist

Successful Liver Surgery by Doctor Sukhdeep Jawar

Health conditions associated with the liver can be alarming. They can cause complications in the body’s system, leading to extreme pain and discomfort.  A healthy diet and moderate exercise can…

  • July 16, 2024

  • 3 Views

गंभीर सिरदर्द बन सकता है जानलेवा, जाने डॉक्टर द्वारा बताए गए के ऐसे लक्षण जिसका जानना है बेहद ज़रूरी
HeadacheHindi

गंभीर सिरदर्द बन सकता है जानलेवा, जाने डॉक्टर द्वारा बताए गए के ऐसे लक्षण जिसका जानना है बेहद ज़रूरी

सिरदर्द कई कारणों से होने लगता है | ज्यादातर मामलों में यह सिरदर्द अपने आप ही ठीक हो जाता है या फिर पेनकिलर के सेवन से कम हो जाता है…

  • July 13, 2024

  • 25 Views

जानिए नस की बीमारी होने पर खुद से दवा लेना कैसे भारी पड़ सकता है ?

नसों का हमारे शरीर में महत्वपूर्ण स्थान होता है, क्युकी ये हमारे शरीर की रक्त की धाराओं को सम्पूर्ण शरीर में प्रयाप्त मात्रा में पहुंचाती है, पर जरा सोचें अगर किसी कारण इनमे किसी तरह की परेशानी आ जाए तो कैसे हम इस तरह की समस्या से खुद का बचाव कर सकते है। वही बहुत से लोगों के मन में आज ये सवाल होगा की सामान्य नसों में परेशानी होने पर खुद से दवाई ले या न ले, तो ऐसे प्रश्नो के बारे में हम आज के आर्टिकल में चर्चा करेंगे, इसलिए आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़े ;

नस क्या होते है ?

  • नसें रक्त वाहिकाएं होती हैं जो रक्त को हृदय की ओर ले जाती है। वही मानव शरीर में दो प्रकार की नसें होती है, पहली गहरी नसें और दूसरी सतही नसें। 
  • वही गहरी नसों की बात करें तो ये नसें शरीर के भीतर गहरी स्थित होती है, जबकि सतही नसें त्वचा की सतह के करीब स्थित होती हैं और अक्सर दिखाई देती हैं।

नसों की कमजोरी क्या है ?

  • नसों की कमजोरी को मेडिकल के टर्म में न्यूरोपैथी के नाम से जाना जाता है। वहीं, बात जब संपूर्ण शरीर की नसों की कमजोरी की हो रही हो, तो उसके लिए मेडिकली टर्म के रूप में इसे पेरिफेरल न्यूरोपैथी कहा जाता है। 
  • नसों की बात की जाए तो ये शरीर में किसी कम्प्यूटर के वायर की तरह काम करती है, जो शरीर की विभिन्न क्रियाओं को करने के लिए दिमाग तक संदेश पहुंचाती है। वही जब किसी वजह से ये नसें दिमाग तक ठीक तरह से संदेश पहुंचाने में विफल होती है या फिर नहीं पहुंचा पाती है, तो इसे ही नसों की कमजोरी के रूप में जाना जाता है। 

नसों में कमजोरी के लक्षण है ?

  • स्मरण शक्ति में क्षति का पहुंचना। 
  • सिर दर्द की समस्या। 
  • मांसपेशियों में अकड़न की समस्या। 
  • पीठ में दर्द की समस्या। 
  • झटके या दौरे का पड़ना। 

कारण क्या है नसों के कमजोरी के ?

  • किसी तरह की बीमारी का होना। 
  • किसी वजह से नसों पर दबाव का पड़ना। 
  • जेनेटिक समस्या का होना। 
  • दवाओं के दुष्प्रभाव, पोषण तत्वों में कमी या विषाक्त पदार्थ के कारण भी ऐसी समस्या हो सकती है। 

नसों में कमजोरी के कारणों के बारे में विस्तार से जानने के लिए लुधियाना में बेस्ट न्यूरोलॉजिस्ट का चयन करें। 

क्या नसों की बीमारी होने पर हम खुद से दवाई ले सकते है ?

  • नसों का हमारे शरीर में बहुत ही महत्वपूर्ण स्थान है इसलिए अगर इनमे किसी भी तरह की समस्या आ जाए तो खुद से या किसी के कहने से दवा का सेवन न करें। बल्कि आपको नसों में कमजोरी महसूस हो रही है तो इसके लिए आप न्यूरो विशेषज्ञों से करें। 

नसों की कमजोरी को कैसे दूर किया जा सकता है ?

  • नियमित व्यायाम, उचित आराम, उचित स्वास्थ्य देखभाल की स्थिति और उचित और संतुलित आहार खाने से नसों की कमजोरी को ठीक किया जा सकता है।

नसों की कमजोरी की जाँच व इलाज के लिए बेस्ट हॉस्पिटल !

  • अगर आप भी नसों के कमजोरी की समस्या का सामना उपरोक्त जैसे कर रहें है तो इससे बचाव के लिए आपको झावर हॉस्पिटल का चयन करना चाहिए। 

निष्कर्ष :

Successful Liver Surgery by Doctor Sukhdeep Jawar
Neurologist

Successful Liver Surgery by Doctor Sukhdeep Jawar

Health conditions associated with the liver can be alarming. They can cause complications in the body’s system, leading to extreme pain and discomfort.  A healthy diet and moderate exercise can…

  • July 16, 2024

  • 3 Views

गंभीर सिरदर्द बन सकता है जानलेवा, जाने डॉक्टर द्वारा बताए गए के ऐसे लक्षण जिसका जानना है बेहद ज़रूरी
HeadacheHindi

गंभीर सिरदर्द बन सकता है जानलेवा, जाने डॉक्टर द्वारा बताए गए के ऐसे लक्षण जिसका जानना है बेहद ज़रूरी

सिरदर्द कई कारणों से होने लगता है | ज्यादातर मामलों में यह सिरदर्द अपने आप ही ठीक हो जाता है या फिर पेनकिलर के सेवन से कम हो जाता है…

  • July 13, 2024

  • 25 Views

क्या है न्यूरोसर्जन और न्यूरोलॉजिस्ट के बीच का मत्वपूर्ण अंतर ?

न्यूरोलॉजिस्ट और न्यूरोसर्जन के बारे में तो अकसर सबने सुना होगा लेकिन इनके बीच के अंतर के बार्रे में बहुत कम लोगों को पता है। इसलिए आज के लेख में हम इन दोनों के बीच अंतर क्या है उसके बारे में बात करेंगे की आखिर इन दोनों का काम क्या होता है और अगर इनसे कोई ट्रीटमेंट करवाना हो तो कौन-से डॉक्टर को किस बीमारी के लिए चुने, तो शुरुआत करते है आर्टिकल की ;

न्यूरोसर्जन और न्यूरोलॉजिस्ट के बीच क्या अंतर है ?

  • न्यूरोलॉजिस्ट और न्यूरोसर्जन दोनों तंत्रिका प्रणाली विकारों का निदान और प्रबंधन करते है, लेकिन न्यूरोलॉजिस्ट सर्जरी नहीं करते हैं। न्यूरोलॉजिस्ट जटिल न्यूरोलॉजिकल निदान खोजने पर ध्यान केंद्रित करते हैं जिनका इलाज अन्य दवाओं या उपचारों के साथ किया जा सकता है।
  • जबकि एक न्यूरोसर्जन चिकित्सा समस्याओं के इलाज के लिए सर्जरी कर सकता है, न्यूरोलॉजिस्ट दवाओं और अन्य प्रक्रियाओं के साथ विशिष्ट स्थितियों का इलाज भी करते है। 
  • एक न्यूरोलॉजिस्ट और एक न्यूरोसर्जन दोनों ही ईईजी और एमआरआई जैसे जटिल न्यूरोलॉजिकल परीक्षण कर सकते हैं। फिर भी, केवल न्यूरोसर्जन ही स्थिति को ठीक करने के लिए सर्जरी करने के लिए निष्कर्षों का उपयोग कर सकते है, जबकि न्यूरोलॉजिस्ट केवल दवाओं का सुझाव दे सकते है या रोगी को देखभाल के लिए न्यूरोसर्जन के पास भेज सकते है।

तो अगर आपको ये जानना है की बीमारी के समय कौन सी दवाइयां आपको लेनी है तो इसके लिए आपको बेस्ट न्यूरोलॉजिस्ट लुधियाना का चयन करना चाहिए।

न्यूरोलॉजिस्ट किस चीज में माहिर होते है ?

अगर आपमें निम्न लक्षण नज़र आए तो इसके लिए आपको न्यूरोलॉजिस्ट का चयन करना चाहिए ;

  • लगातार चक्कर का आना। 
  • भावनाओं में बदलाव का आना। 
  • संतुलन के साथ कठिनाइयाँ। 
  • सिर दर्द की समस्या। 
  • भावनात्मक भ्रम। 
  • मांसपेशियों की थकान आदि। 

न्यूरोलॉजिस्ट दवाइयों की मदद से व्यक्ति का इलाज करते है और ये सर्जरी का चुनाव नहीं करते। 

न्यूरोसर्जन किस चीज में माहिर होते है?

अगर आपमें निम्न गंभीर लक्षण नज़र आए तो सर्जरी करवाने के लिए आपको न्यूरोसर्जन का चयन करना चाहिए ; 

  • इंडोवैस्कुलर रिपेयर करना। 
  • डिस्क हटाना। 
  • क्रानिओटोमी की समस्या। 
  • लम्बर पंक्चर समस्या की सर्जरी। 
  • अनुरिस्म रिपेयर आदि समस्याओं का न्यूरोसर्जन के द्वारा सर्जरी करके ठीक किया जाता है। 

न्यूरोसर्जन और न्यूरोलॉजिस्ट कौन-सी बीमारी का इलाज करते है ?

  • एक न्यूरोलॉजिस्ट मिर्गी, अल्जाइमर रोग, परिधीय तंत्रिका विकार और एएलएस जैसी न्यूरोलॉजिकल स्थितियों के इलाज में रुचि रखते हैं।
  • जबकि न्यूरोसर्जन मस्तिष्क की चोटों, ट्यूमर को हटाने और कार्पल टनल सिंड्रोम से निपटने में मदद करता है।

न्यूरोसर्जन और न्यूरोलॉजिस्ट की चयन के लिए बेहतरीन हॉस्पिटल ?

  • अगर आप अपनी बीमारी के इलाज और सर्जरी के लिए किसी बेहतरीन न्यूरोसर्जन और न्यूरोलॉजिस्ट का चयन करना चाहते है तो इसके लिए आप झावर ब्रेन एन्ड स्पाइन हॉस्पिटल का चयन कर सकते है।

एक न्यूरोसर्जन और न्यूरोलॉजिस्ट की शैक्षिक योग्यता क्या है ?

  • एक न्यूरोलॉजिस्ट बनने के लिए चार साल के प्री-मेडिकल स्कूल की आवश्यकता होती है, इसके बाद न्यूरोलॉजी में मेडिकल डिग्री और मूवमेंट, स्ट्रोक आदि में अतिरिक्त प्रशिक्षण की आवश्यकता होती है। 
  • वही न्यूरोसर्जन बनने का शैक्षिक मार्ग अधिक विस्तृत है, जिसके लिए चार साल के प्री-मेडिकल स्कूल और चार साल के मेडिकल स्कूल की आवश्यकता होती है।

निष्कर्ष :

उम्मीद करते है की आपने जान लिया होगा की आखिर क्या अंतर है न्यूरोसर्जन और न्यूरोलॉजिस्ट के बीच। तो भविष्य में अगर आपको किसी भी तरह की बीमारी होगी तो आपको ये सोचने की जरूरत नहीं होगी की आप कौन से डॉक्टर के पास जाए अपनी परेशानी के लिए।

Successful Liver Surgery by Doctor Sukhdeep Jawar
Neurologist

Successful Liver Surgery by Doctor Sukhdeep Jawar

Health conditions associated with the liver can be alarming. They can cause complications in the body’s system, leading to extreme pain and discomfort.  A healthy diet and moderate exercise can…

  • July 16, 2024

  • 3 Views

गंभीर सिरदर्द बन सकता है जानलेवा, जाने डॉक्टर द्वारा बताए गए के ऐसे लक्षण जिसका जानना है बेहद ज़रूरी
HeadacheHindi

गंभीर सिरदर्द बन सकता है जानलेवा, जाने डॉक्टर द्वारा बताए गए के ऐसे लक्षण जिसका जानना है बेहद ज़रूरी

सिरदर्द कई कारणों से होने लगता है | ज्यादातर मामलों में यह सिरदर्द अपने आप ही ठीक हो जाता है या फिर पेनकिलर के सेवन से कम हो जाता है…

  • July 13, 2024

  • 25 Views