स्ट्रोक की समस्या होने की मुख्य कारण क्या है, जानें एक्सपर्ट्स से क्यों होती है स्ट्रोक

स्ट्रोक तब होता है जब मस्तिष्क के किसी हिस्से में रक्त की आपूर्ति अवरुद्ध हो जाती है या फिर कम हो जाती है | जिस कारण मस्तिष्क के ऊतकों को सही मात्रा में ऑक्सीजन और पोषक तत्व प्राप्त नहीं हो पाते है और मस्तिष्क की कोशिकाएं कुछ ही समय में मरने लगती है | स्ट्रोक को एक अन्य रक्तस्रावी स्ट्रोक के नाम से भी जाना जाता है, जिसमें रक्त वाहिका लीक हो जाती है या फिर फट जाती है,जिस कारण मस्तिष्क में रक्तस्राव होने लगता है | रक्त मस्तिष्क की कोशिकाएं पर काफी दबाव डालती है, जिससे उन्हें काफी नुक़सान पहुँचता है | 

 

न्यूरोमास्टर झावर हॉस्पिटल के सीनियर कंसल्टेंट डॉक्टर सुखदीप झावर ने अपने यूट्यूब चैनल में पोस्ट एक वीडियो के माध्यम से यह बताया कि स्ट्रोक एक मेडिकल आपातकालीन स्थिति है, जिसमें तुरंत चिकित्सक के उपचार की आवश्यकता होती है | आपातकालीन स्थिति में चिकित्सा उपचार की सहायता जल्दी प्राप्त करने पर मस्तिष्क को क्षति और स्ट्रोक से होने वाले अन्य जटिलताओं को कम करने की कोशिश की जा सकती है | पहले के दौर के मुकाबले अब स्ट्रोक से मरने वालों संख्या बहुत कम हो गयी है क्योंकि सही समय में मिले उपचार इस दर को कम करने में सक्षम है | प्रभावी उपचार स्ट्रोक से होने वाले विकलांगता की समस्या को रोकने का में भी मदद करता है | आइये जानते है इसके लक्षण और होने के कारण के बारे में :- 

स्ट्रोक होने के मुख्य लक्षण निम्नलिखित है :- 

  • बोलने के समय या किसी दूसरे की बात को समझने में परेशानी होना | 
  • चेहरे, हाथ और पैर का सुन होना, कमज़ोरी आना या फिर लकवा मर जाना | 
  • एक या फिर दोनों आँखों से देखने में समस्या होना | 
  • तीव्र सिरदर्द होना 
  • चलने और संतुलन बनाने में परेशानी होना | 

स्ट्रोक होने के मुख्य कारण निम्नलिखित है:- 

  • रक्तस्रावी स्ट्रोक, जब मस्तिष्क में रक्त वाहिका लीक होने लग जाती है या फिर फट जाती है, तब इससे रक्त वाहिकाओं को प्रभावित रूप से कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है | मस्तिष्क में रक्तस्रव की एक आम वजह धमनी शिरापरक विकृति का टूटना भी होता है | एवीएम पतली दीवार वाली रक्त वाहिकाओं का एक नियमित जाल होता है | 
  • क्षणिक इस्केमिक अटैक, स्ट्रोक के लक्षण के समान एक अस्थायी अवधि होती है, लेकिन यह स्थिति से स्थायी क्षति नहीं पहुंचाता | यह स्थिति तब उत्पन्न होती है जब मस्तिष्क के एक हिस्से में रक्त की आपूर्ति में अस्थायी रूप कमी से हो जाती है | 

इससे जुड़ी कोई भी जानकारी के लिए आप न्यूरोमास्टर डॉक्टर सुखदीप झावर नमक यूट्यूब चैनल पर विजिट कर सकते है, चैनल पर इस टॉपिक की वीडियो बना कर पोस्ट की हुई है या फिर आप हॉस्पिटल से परामर्श भी कर सकते है | यहां के डॉक्टर सुखदीप झावर न्यूरोसर्जन में एक्सपर्ट है, जो आपके इस समस्या को कम करने में मदद कर सकते है |   

गंभीर सिरदर्द बन सकता है जानलेवा, जाने डॉक्टर द्वारा बताए गए के ऐसे लक्षण जिसका जानना है बेहद ज़रूरी
HeadacheHindi

गंभीर सिरदर्द बन सकता है जानलेवा, जाने डॉक्टर द्वारा बताए गए के ऐसे लक्षण जिसका जानना है बेहद ज़रूरी

सिरदर्द कई कारणों से होने लगता है | ज्यादातर मामलों में यह सिरदर्द अपने आप ही ठीक हो जाता है या फिर पेनकिलर के सेवन से कम हो जाता है…

  • July 13, 2024

  • 22 Views

क्या है सर्वाइकल स्पोंडिलोसिस और कैसे करें इसका उपचार ?
CervicalHindi

क्या है सर्वाइकल स्पोंडिलोसिस और कैसे करें इसका उपचार ?

सर्वाइकल स्पोंडिलोसिस जिसे गर्दन में गठिया भी कहा जाता है, जिसके कारण आपके गर्दन में चोट अकड़न और दर्द का अनुभव हो सकता है | आज के दौर सर्वाइकल स्पोंडिलोसिस…

  • July 4, 2024

  • 40 Views